हमेशा की तरह, हर प्रमुख घटना के लिए, इस बार भी महागुरु जी ने, चीन के साथ गलवान घाटी में होने वाली घटना के बारे में 2 महीने पहले ही बता दिया था
१६ जून २०२० को, हमारे 20 जवान, इस धरती की रक्षा करते हुए वीरगति को प्राप्त हुए

महागुरु जी ने पहले 23 अप्रैल को अपने ट्विटर अकाउंट पर बताया कि ईश्वर के आदेशों के अनुसार एक युद्ध होने वाला है , और फिर 3 मई को दुबारा उन्होंने लिखा कि अब तो युद्ध होने से कोई नहीं रोक सकता, क्योंकि ईश्वर ऐसा चाहते हैं

 

 

A war

— Mahaguru Kritakritacharya (@Kritakritachary) April 23, 2020

A war is inevitable. #future

— Mahaguru Kritakritacharya (@Kritakritachary) May 3, 2020

महागुरु जी ईश्वर की आज्ञा के अनुसार इस संसार का ईश्वर की महाशक्ति दिव्य ऊर्जाओं की सहायता से संचालन करते हैं | वे ईश्वर के आदेशों को भविष्य में बनाने के पश्नचात, उन की भाषा में उनके ट्विटर सोशल मीडिया प्रोफाइल पर लिख देते हैं | एक बार जब वह घटना घटित हो जाती है, तब महागुरु जी लोगों को उसे कैसे बनाया गया, यह बताते हैं
इस घटना में चीन कोई बड़ी गुस्ताखी करने वाला था, लेकिन वह बात ईश्वर से छुपी नहीं थी | इसलिए देवताओं ने महागुरु जी को आदेश दिया कि वे हमारे सैन्यबल की दिव्य ऊर्जाओं की सहायता प्रदान करें , ताकि इस युद्ध में हमारे कम से कम वीर हताहत हों

 महागुरु जी ने इसके पहले १२ अप्रैल को ही बताया था कि जल्द ही रूस भारत की सहायता करने वाला है , क्योंकि ऐसा ईश्वर ने उन्हें भविष्य में बनाने का आदेश दिया है |
महागुरु जी का निम्न ट्वीट देखें
 

Russia will send aid to India soon. #future

— Mahaguru Kritakritacharya (@Kritakritachary) April 12, 2020

रूस ने हिंदुस्तान को मिलिट्री सामान भेजना २५ जून २०२० के बाद शुरू किया

संस्थान हमारे वीरों को भावपूर्ण श्रद्धांजलि देता है और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता है