Login

Lost your password?
Don't have an account? Sign Up
पाइए देवताओं का दिव्य आशीर्वाद

राम रक्षा यज्ञ संकल्प

महागुरु कृताकृताचार्य जी महाराज द्वारा प्रतिदिन राम रक्षा यज्ञ दिव्य ऊर्जाओं द्वारा किया जाता है | आप स्वयं के व् अपने परिवार के कल्याण के लिए , रक्षा के लिए संकल्प कर सकते हैं | 

राम रक्षा महायज्ञ आपको ईश्वर के समीप ले जाता है, ताकि आप अपनी इच्छाओं की पूर्ति करने के लिए उनसे याचना कर सकें | इस यज्ञ के प्रसाद के रूप में आपको “विशाल महाविष्णु यंत्र ” आचार्यों की आज्ञा के अनुरूप निःशुल्क  दिया जाता है |

महागुरु कृताकृताचार्य जी महाराज कौन हैं ?

महागुरु कृताकृताचार्य जी महाराज  प्रभु महाविष्णु के आदेशों से इस संसार का सञ्चालन दिव्य ऊर्जाओं द्वारा करते हैं |

महागुरु जी सभी प्राकृतिक आपदाओं , वर्षा, लोकतान्त्रिक चुनावों इत्यादि का निर्धारण करते हैं |

यह कार्य महागुरु जी पिछले २३ वर्षों से करते आ रहे हैं |

पिछले १ साल में महागुरु जी ने संसार को उनकी दिव्य शक्तियों से अवगत कराया है | 

महागुरु जी के पिछले कुछ  चमत्कारों के बारे में आप नीचे पढ़ सकते हैं |

राम रक्षा यज्ञ महागुरु जी द्वारा उनकी नित्य साधना के रूप में किया जाता है | सभी भक्त गण जो इस यज्ञ का संकल्प लेते हैं , उनका और उनके परिवार का नाम संकल्प के समय महागुरु जी के श्री मुख द्वारा लिया जाता है | इस यज्ञ में साधारण हवि के साथ साथ दिव्य ऊर्जाओं का उपयोग किया जाता है और यह सभी मनुष्यों के लिए बहुत ही फलदायी है |

राम रक्षा महायज्ञ आपको ईश्वर के समीप ले जाता है, ताकि आप अपनी इच्छाओं की पूर्ति करने के लिए उनसे याचना कर सकें | इस यज्ञ के प्रसाद के रूप में आपको “विशाल महाविष्णु यंत्र ” आचार्यों की आज्ञा के अनुरूप निःशुल्क दिया जाता है |

यदि महागुरु जी द्वारा बनाई गई दिव्य ऊर्जाएं कोई कार्य नहीं कर सकती, तो वह कार्य उस समय में और किसी भी तरह नहीं किया जा सकता

नहीं. आपको सिर्फ आपका नाम, आपके परिवार वालों का नाम, गोत्र, वर्ण इत्यादि हमें भेजना है | संकल्प महागुरु जी द्वारा कहा जाता है | जिस दिन आपका नाम संकल्प में लिया जाएगा, आपको बताया जाएगा | उस वक़्त आपके घर में ही स्थित मंदिर में या उसके सामने  बैठकर सिर्फ प्रभु महाविष्णु का ध्यान करना है आपको | 

वह संभव नहीं होता है क्योंकि महागुरु जी अपनी साधना के समय पूरी तरह शरीर में नहीं होते हैं |  यह यज्ञ अर्ध योग अवस्था में किया जाता है , देव लोक में | इसीलिए इसका महत्त्व है | 

जी | यज्ञ संपन्न होने के बाद “विशाल महाविष्णु यंत्र ” जो सिर्फ आपके नाम से , आपके कार्य के लिए बनाया जाता है, वह आपको आपके घर पर भेजा जाता है | इस यंत्र को अपने मंदिर में कार्य होने तक रखें, और बाद में सम्पूर्ण सम्मान के साथ चलती धारा में विसर्जित कर दें | 

यदि किसी कारणवश राम रक्षा यज्ञ के संकल्प के बाद भी देवता गण आपकी इच्छा को अधूरा रख देते हैं , तो आप प्रभु महाविष्णु के साप्ताहिक स्नान का संकल्प ले सकते हैं | 

यदि आपको राम रक्षा यज्ञ संकल्प से कोई भी लाभ नहीं होता है, तब आप स्नान का संकल्प अपने विश्वास के अनुसार ले सकते हैं | अन्यथा सबसे उचित आपको कुछ समय प्रतीक्षा करना या उस कार्य का विकल्प ढूंढना ही रहेगा | 

प्रभु महाविष्णु के साप्ताहिक स्नान के संकल्प के लिए हर श्रद्धालु से एक दान लिया जाता है जो वह यथा शक्ति दे सकते हैं |

यह स्नान महागुरु जी द्वारा प्रभु महाविष्णु व् माता लक्ष्मी को शेषशायी अवस्था में सीधे क्षीरसागर में दिव्य ऊर्जाओं के माध्यम से प्रति गुरूवार किया जाता है | 

इसके फलस्वरूप प्रसाद रूप में पीत वस्त्र, यदि आप द्विज हैं तो प्रभु को चढ़ाया गया जनेऊ , लड्डू प्रसाद व् “विशाल महाविष्णु यन्त्र ” आपको भेजा जाता है | 

आपको फोन से महागुरु जी के इस प्रक्रिया के करने का समय सूचित किया जाता है , जो की दोपहर के २ बजे से रात के ४ बजे के बीच तक कभी भी होता है | उस समय आपको आपके घर के मंदिर के सामने सपरिवार प्रभु महाविष्णु का ध्यान करते हुए बैठना है | 

महागुरु जी बहुत ही कम समय के लिए ध्यान अवस्था से बाहर रहते हैं | यह समय अधिकांशतः नेतागण इत्यादि के लिए रिजर्व किया गया रहता है | यदि आप संस्था के बड़े दाता हैं तो विषयानुसार आप मिलने के समय के लिए संपर्क कर सकते हैं | महागुरु जी केवल अपने निवास स्थान पर ही साधारणतः मिलते हैं | मिलने का अधिकार महागुरु जी द्वारा सुरक्षित है व् वे किसी से भी मिलने से मना कर सकते हैं | 

यज्ञ का सर्विस चार्ज

आप यथा शक्ति कोई भी राशि का भुगतान कर सकते हैं

आपके कार्य के हिसाब से आप यथाशक्ति कोई भी राशि नीचे दिए गए फॉर्म के माध्यम से ऑनलाइन या बैंक ट्रान्सफर के द्वारा दे सकते हैं | 

धनराशि का भुगतान करने के पश्चात हमें whatsapp के माध्यम से आपका नाम, पेमेंट का स्क्रीनशॉट , गोत्र और आप किसलिए यह संकल्प करना चाहते हैं , भेजें | यदि हमें और कोई जानकारी आपसे चाहिए होगी, तो हमारी ओर से आपको संपर्क किया जाएगा | 

Ram Raksha Yajnya Service Fee

Select Payment Method
Personal Info

Please deposit your donation in one of the below ways :

  1. Direct Bank Account / NEFT / RTGS / IMPS Transfer

Name : Mahaguru Kritakritacharya Ji Maharaj Sansthan

Account No : 100005500659

IFSC Code : ICIC0001000

Branch : Teen Hath Naka, Thane West

Bank : ICICI Bank

 

  1. UPI/Bhim Pay/ Google Pay / Paytm UPI

Make payment to : [email protected] using any UPI app

Terms

Donation Total: ₹11,000.00

Please deposit your payment in one of the below ways :

  1. Direct Bank Account / NEFT / RTGS / IMPS Transfer

Name : Mahaguru Kritakritacharya Ji Maharaj Sansthan

Account No : 100005500659

IFSC Code : ICIC0001000

Branch : Teen Hath Naka, Thane West

Bank : ICICI Bank

 

  1. UPI/Bhim Pay/ Google Pay / Paytm UPI

Make payment to : [email protected] using any UPI app

  • Send your name, transaction screenshot via WhatsApp to +919321390655 or Click here to initiate a whatsapp chat 
  • If any other information will be needed, we will inform you on whatsapp. 
  • Effect of energies is valid for upto 6 months. If your wish is not fulfilled by Gods and Divine energies during this time, you can seek refund of your entire amount or if you are seeing positive changes in your life, you can donate again to include your name for the Yajnya once again to enhance positive effect. 
  • All wishes should be within the realm of physical reality. Adharmic requests are not entertained. 
  • No Tantra, mantra, black magic, vashikaran (hypnosis), Aghor Vidya, astrology etc are used by Mahaguru Ji. Mahaguru Ji uses divine energies which are powers of Lord Mahavishnu himself to create events for you. 
  • Gods test your faith and accordingly divine energies make changes. 
  • Your donations are used towards objectives and causes of the Sansthan. 
  • Donation refund requests are considered after 6 month period for a period of 30 days. After which no donation refund request is entertained. 

Regarding Coronavirus – As per directives of govt no religious/divine help is being offered through Sansthan for anything related to the pandemic for general public. Yantras are formed from divine energies and they are not a replacement or alternative of taking medical help.